Class 12 Political Science Chapter 6 अंतर्राष्ट्रीय संगठन Notes in Hindi

* अंतर्राष्ट्रीय संगठन अपने उद्देश्यों में व्यापक होते हैं। जो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विवादों के समाधान तथा शांति व सुरक्षा स्थापित करने में व विभिन्न देशों के मध्य सौहार्दपूर्ण वातावरण का निर्माण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

* अंर्तराष्ट्रीय संगठनों की आवश्यकता

1. अंतराष्ट्रीय विवादों का शांतिपूर्ण समाधान।
2. युद्धों की रोकथाम में सहायक।
3. विश्व के आर्थिक विकास में सहायक।
4. प्राकृतिक आपदा, महामारी से निपटना।
5. अन्तराष्ट्रीय सहयोग को बढ़ावा देना।
6. वैश्विक तापवृद्धि से निपटना।

* प्रथम विश्व युद्ध के बाद युद्ध रोकने के लिए बनी संस्था राष्ट्रसंघ (लीग-आफ-नेशन्स) के असफल होने के कारण एवं 1939 से 1945 तक चले द्वितीय विश्व युद्ध के पश्चात अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति एवं सुरक्षा स्थापित करने के लिए पुनः एक अन्तर्राष्ट्रीय संगठन की आवश्यकता महसूस की गई। अतः 24 अक्टूबर 1945 को संयुक्त राष्ट्र संघ UNO की स्थापना की गई। स्थापना के समय संयुक्त राष्ट्र संघ में 51 सदस्य थे, भारत भी इसके संस्थापक सदस्यों में शामिल था। मई 2013 तक इसके सदस्यों की संख्या 193 हो गयी है। 193वाँ सदस्य दक्षिणी सूडान हैं।

* संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग :-

• इसका सबसे शक्तिशाली अंग सुरक्षा परिषद् है इससे कुल 15 सदस्य है इसमें पांच स्थायी सदस्य (अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस और चीन) तथा दस अस्थायी सदस्य है जो दो वर्षों की अवधि के लिए चुने जाते है। स्थायी सदस्यों को वीटो (निषेधाधिकार) की शक्ति प्राप्त है।

• शीत युद्ध के बाद से ही संयुक्त राष्ट्र में इसके ढाँचे एवं कार्य करने की प्रक्रिया दोनों में सुधार की मांग जोर पकड़ने लगी । सुरक्षा परिषद् में स्थायी व अस्थायी सदस्यों की संख्या बढ़ाने पर बल दिया गया। इसके अतिरिक्त गरीबी, भूखमरी, बीमारी, आतंकवाद पर्यावरण मसले एवं मानवाधिकार आदि मुद्दो पर संयुक्त राष्ट्र की भूमिका को ओर अधिक सक्रिय बनाने पर बल दिया गया।

• महासचिव संयुक्त राष्ट्र संघ का प्रतिनिधि होता है। वर्तमान महासचिव का नाम एंटोनियो गुटेरेस (पुर्तगाल) है।

* संयुक्त राष्ट्र के महासचिव

• नाम. • संबधित देश. • कार्यकाल

1. ट्राइग्व ली नार्वे 1946-1952

2. डेग हैमरशोल्ड. स्वीडन. 1953-1961

3. यू थांट. वर्मा (म्यांमार) 1961-1971

4. कुर्त वाल्डहीम. ऑस्ट्रेलिया 1972-1981

5. जेवियर पेरेज द कुइयार. पेरू 1982-1991

6. बुतरस बुतरस घाली मिस्त्र. 1992-1996

7. कोफी ए. अन्नान. घाना 1997-2006

8. बान की मून. दक्षिण कोरिया 2007-2016

9. ऐटोनियो गुटेरेस पुर्तगाल 2017-वर्तमान

* भारत संयुक्त राष्ट्र संघ के कार्यक्रमों में अपना योगदान लगातार देता रहा है। चाहे वह शांति सुरक्षा का विषय हो, निःशस्त्रीकरण हो, दक्षिण कोरिया संकट हो, स्वेज नहर का मामला हो या इराक का कुवैत पर आक्रमण हो। इसके अतिरिक्त, मानवाधिकारों की रक्षा, उपनिवेशवाद व रंगभेद का विरोध तथा शैक्षणिक आर्थिक तथा सांस्कृतिक गतिविधियों में भी भारत की भूमिका बनी रहती है।

* संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता के लिए भारत का पक्ष।

• आबादी के दृष्टिकोण से बड़ा राष्ट्र। स्थिर लोकतंत्र व मानवाधिकारों के प्रति निष्ठा ।

• उभरती हुई आर्थिक ताकत।

• संयुक्त राष्ट्र संघ के बजट में लगातार योगदान।

• शांति बहाली में भारत का योगदान।

* संयुक्त राष्ट्र संघ की प्रमुख एजेन्सियाँ

1) विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)

2) संयुक्त राष्ट्र, शैक्षिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक संगठन ( UNESCO)

3) संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF)

4) संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP)

5) संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग (UNHRC)

6) संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायोग (UNHCR)

7) संयुक्त राष्ट्र व्यापार एवं विकास सम्मेलन (UNCTAD)

* संयुक्त राष्ट्र संघ के उद्देश्य एवं सिद्धान्त

1) अन्तर्राष्ट्रीय शान्ति व सुरक्षा को बनाये रखना।

2) राष्ट्रों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधो को बढ़ाना।

3) आपसी सहयोग द्वारा आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक तथा मानवीय ढंग की अन्तर्राष्ट्रीय समस्याओं को हल करना।

4) अंर्तराष्ट्रीय संधियों एवं अंतराष्ट्रीय कानूनों को सम्मानपूर्वक लागू करवाना ।

5) राष्ट्रों की प्रादेशिक अखंडता और राजनीति स्वतंत्रता का आदर करना।

* संयुक्त राष्ट्र संघ को एक ध्रुवीय विश्व में अधिक प्रासंगिक बनाने के उपाय।

1) शांति संस्थापक आयोग का गठन।

2) मानवाधिकार परिषद की स्थापना।

3) सहस्त्रादि विकास लक्ष्य को प्राप्त करने पर सहमति।

4) एक लोकतंत्र कोष का गठन।

5) आतंकवाद के सभी रूपों की भर्त्सना।

6) न्यासिता परिषद की समाप्ति।

* आज एक ध्रुवीय विश्व व्यवस्था में जब अमेरिका का वर्चस्व पूरे विश्व पर हो चुका है तो ऐसे में संयुक्त राष्ट्र संघ भी अमेरिकी ताकत पर पूर्णरूप से अंकुश नहीं लगा सकता, क्योंकि अमेरिका का इसके बजट में योगदान अधिक है, इसके अतिरिक्त इसका लय भी अमेरिकी भू-क्षेत्र पर स्थित है। परन्तु इसके बावजूद संयुक्त राष्ट्रसंघ वो मंच है जहाँ अमेरिका से शेष विश्व के देश वार्ता करके उसपर नियंत्रण रखने का प्रयास कर सकते है।

* अंर्तराष्ट्रीय संस्थाएँ व गैर सरकारी संगठन :-

संयुक्त राष्ट्र संघ के अतिरिक्त कई अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाएँ एवं गैर सरकारी संगठन है जो निरन्तर अपने उद्देश्यों को पूर्ण करने में लगे है जैसे :-

1) अन्तराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) .. वैश्विक स्तर पर वित्त व्यवस्था की देख-रेख एवं वित्तीय तथा तकनीकी सहायता मुहैया कराना।

2) विश्व बैंक (WB) – मानवीय विकास (शिक्षा, स्वास्थ्य) कृषि और ग्रामीण विकास, पर्यावरण सुरक्षा, आधारभूत ढाँचा तथा सुशासन के लिए काम करता है।

3) विश्व व्यापार संगठन (WTO) – यह अंर्तराष्ट्रीय संगठन वैश्विक व्यापार के नियमों को तय करता है।

4) अंतर्राष्ट्रीय आण्विक उर्जा एजेन्सी (IAEA) यह संगठन परमाणि वक उर्जा के शांतिपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देने और सैन्य उद्देश्यों में इसके इस्तेमाल को रोकने की कोशिश करता है।

5) एमनेस्टी इंटरनेशनल :- यह एक स्वयंसेवी संगठन है। यह पूरे विश्व में मानवाधिकारों की रक्षा के लिए अभियान चलाता है।

6) हयूमन राइटस वॉच :- यह स्वयंसेवी संगठन भी मानवाधिकारों की वकालत और उनसे संबंधित अनुसंधान करने वाला एक अंर्तराष्ट्रीय स्वयंसेवी संगठन है।

7) अन्तर्राष्ट्रीय रेड क्रास सोसायटी :- यह सोसायटी युद्ध और आंतरिक हिंसा के सभी पीड़ितों की सहायता तथा सशस्त्र हिंसा पर रोक लगाने वाले नियमों को लागू करने का प्रयास करता है।

8) ग्रीनपीस :- 1971 के स्थापित ग्रीन पीस फाउण्डेशन विश्व समुदाय को पर्यावरण के प्रति संवेदनशील बनाने तथा पर्यावरण संरक्षण हेतु कानून बनाने के लिए दबाव डालने का कार्य करती है।

* हालांकि संयुक्त राष्ट्र संघ में थोड़ी कमियाँ अवश्य है, लेकिन बिना इसके दुनिया और बदहाल होगी। संयुक्त राष्ट्र संघ एवं उपरोक्त वर्णित सभी आर्थिक संस्थाओं एवं गैर सरकारी संगठनों ने पारस्परिक निर्भरता को बढ़ाया है। जिसससे की संस्थाओं की उत्तरदायित्वता भी बढ़ती जा रही है। इसलिए आने वाली सरकारों को संयुक्त राष्ट्र एवं इन अन्तर्राष्ट्रीय संगठनों के समर्थन एवं उपयोग के तरीके तलाशने होगें।

प्रसन 1. अंतर्राष्ट्रीय संगठन?

उत्तर :- अंतरराष्ट्रीय संगठन संगठन को कहा जाता है जो किसी एक देश के लिए काम नहीं करता है बल्कि यह विषय के लिए काम करता है जैसे UNO (संयुक्त राष्ट्र संघ) और इसमें 193 देश हैं

प्रसन 2. हमें अंतर्राष्ट्रीय संगठन क्यों चाहिए?

उत्तर :- 1) कुछ समस्या ऐसी होती है जिस से निपटना किसी एक देश के लिए आसान नहीं होता ऐसे में अंतरराष्ट्रीय संगठन मदद करता है बीमारी, आतंकवाद, ग्लोबल वार्निंग जैसी समस्या
2) अंतरराष्ट्रीय संगठन युद्ध और शांति के मामले में मदद करता है यह विभिन्न देशों के विवादों को सुलझाते हैं

प्रसन 3. संयुक्त राष्ट्र संघ कब बना

उत्तर :- 1) इसकी स्थापना 24 अक्टूबर 1945 में हुई थी 51 देश द्वारा संयुक्त राष्ट्र संघ के घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर करने के बाद इसकी स्थापना हुई
2) लीग ऑफ नेशन का उत्तराधिकारी संयुक्त राष्ट्र संघ है

प्रसन 4. संयुक्त राष्ट्र संघ के उद्देश्य

उत्तर :- 1) अंतर्राष्ट्रीय झगड़ों को रोकना 2) राष्ट्र के बीच में सहयोग की राह दिखाना 3) अगर किसी देश में युद्ध छिड़ जाए तो दोनों देश के बीच की लड़ाई कम करना
4) पूरे विश्व के लिए सामाजिक आर्थिक विकास के लिए कार्य करना
5) आपदा, महामारी आदि अन्य किसी समस्या में मदद करना

नोट – * UN की स्थापना 24 अक्टूबर 1944 में हुई
* भारत UN में 30 अक्टूबर 1944 में शामिल हुआ
* UN में आमसभा मैं सभी सदस्यों को 1 वोट हासिल है या वह अमेरिका हो या नेपाल
* सुरक्षा परिषद में 15 सदस्य हैं
1 (स्थाई 5 सदस्य हैं)
i) अमेरिका, ii) रशिया, iii) चीन, iv) ब्रिटेन, v) फ्रांस
2 (स्थाई सदस्य) – 10 है तथा हर 2 साल में इनको बदला जाता है
* UN का सबसे अधिक दिखाई देने वाला चेहरा (महासचिव होता है)
पुराने महासचिव (बान की मून) थे तथा वर्तमान में (एंटेनियो गुटेरियस) है

प्रसन 5. संयुक्त राष्ट्र संघ के अंगों के नाम बताओ

उत्तर :- 1) सुरक्षा परिषद, 2) अंतरराष्ट्रीय न्यायालय, 3) सचिवालय, 4) आम सभा, 5) न्यासिता परिषद, 6)आर्थिक और सामाजिक परिषद

प्रसन 6. संयुक्त राष्ट्र संघ की एजेंसी

उत्तर :- 1) विश्व स्वास्थ्य संगठन
(वर्ल्ड हेल्थ आर्गनाइजेशन WHO),

2) संयुक्त राष्ट्रसंघ विकास कार्यक्रम
(यूनाइटेड के नेश डेवलपमेंट प्रोग्राम-UNDP),

3) संयुक्त संघ मानवाधिकार आयोग
(यूनाइटेड नेशंस हयूमन राइट्स कमिशन – UNHRC),

4) संयुक्त राष्ट्रसंघ शरणार्थी उच्चायोग (यूनाइटेड नेशंस .
हाई कमिशन फॉर रिफ्यूजीज – UNHCR)

5) संयुक्त राष्ट्रसंघ बाल कोष (यूनाइटेड नेशंस
चिल्ड्रेन्स फंड- UNICEF)

6) संयुक्त राष्ट्रसघ शैक्षिक , सामाजिक एव सांस्कृतिक संगठन (यूनाइटेड नेशंस एजुकेशनलसोशल एंड कल्चरल आर्गनाइजेशन – UNESCO)

प्रसन 7. सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्य हासिल करने के लिए क्या योग्यता है

उत्तर :- 1) बड़ी आर्थिक शक्ति
2) बड़ी सैन्य शक्ति
3) विशाल आबादी
4) संयुक्त राष्ट्र संघ के बजट में योगदान देता हो
5) लोकतंत्र का सम्मान करता हो
6) यह देश अपने भूगोल अर्थव्यवस्था और संस्कृति के लिहाज से विविधता की नुमाइंदगी करता है

प्रसन 8. 1992 में UN की आम सभा में प्रस्ताव पारित हुआ इसकी मुख्य 3 शिकायतें बताओ

उत्तर :- 1) सुरक्षा परिषद अब राजनीतिक वास्तविकताओं की नुमाइंदगी नहीं करता
2) इसके फैसले पर पश्चिमी देशों का हित दिखता है ( चंद्र देशों का दबदबा) जैसे कि ज्यादातर फैसले से पश्चिमी देश का फायदा होता हो
3) इसमें बराबर का प्रतिनिधित्व नहीं है

प्रसन 9. संयुक्त राष्ट्र संघ को अधिक प्रासंगिक बनाने के लिए उठाए जाने वाले कदम

उत्तर :- 2005 में UN के 60 साल पूरे होने के उपलक्ष में सदस्य देशों ने सालगिरह मनाई
1) शांति संस्थापक आयोग
2) अगर कोई राष्ट्र अपने नागरिकों को अस्पताल से बचाने में नाकामयाब रहेगा तो विश्व बिरादरी UN उसकी जिम्मेदारी लेगा 3) मानवअधिकार परिषद की स्थापना 4)आतंकवाद की निंदा
5) लोकतंत्र कोष का गठन (एक ऐसा फंड बनाया बनाएंगे जिसमे लोकतंत्र के लिए पैसे जमा किया जाएगा)
6) न्यासिता परिषद को समाप्त करना (जैसे जो लोग ज्यादा पैसा वाले होते हैं उनकी अब नहीं चलेगी)

प्रसन 10. वर्ल्ड बैंक

उत्तर :- * स्थापना =1945
* गतिविधि = विकासशील देशों के लिए काम करते हैं शिक्षा व्यवस्था कृषि ग्रामीण विकास आदि के लिए लोन देना
* अगर कोई देश गरीब है और वह लोन के पैसे नहीं दे सकता है तो वर्ल्ड बैंक वो पैसे नहीं मांगता

प्रसन 11. W.T.O वर्ल्ड ट्रेड आर्गेनाईजेशन

उत्तर :- * स्थापना = 1995
* उत्तराधिकारी = WTO बना
* अमेरिका जापान यूरोपीय संघ जैसी शक्तियां WTO के नियमों को इस तरह बना लेते हैं जिससे उन्हें लाभ होता हो
* विकासशील देश उसके कामकाज को लेकर शिकायत करता है जैसे कि WTO जो काम करता है उसे शक्तिशाली देशों का लाभ होता है

एक अंक वाले प्रश्न :-
1) संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना कब हुई?

उत्तर :- 24 अक्टूबर 1945

2) संयुक्त राष्ट्र संघ की घोषणापत्र पर कितने देशों ने हस्ताक्षर किये?

उत्तर :- 51 देशों ने।

3) भारत UNO का सदस्य कब बना?

उत्तर :- 30 अक्टूबर 1945

4) वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र संघ के सदस्य देशों की संख्या कितनी है?

उत्तर :- 193

5) UNO के वर्तमान महासचिव का नाम बताइये।

उत्तर :- ऐन्टोनियो गुटेरेस।

6) अन्तराष्ट्रीय न्यायालय कहाँ स्थित

उत्तर :- हेग-नीदरलैंड

7) IAEA का विस्तृत रूप लिखे। है?

उत्तर :- अन्तर्राष्ट्रीय अणिविक उर्जा ऐजेन्सी।

৪) संयुक्त राष्ट्र संघ का प्रमुख उद्देश्य बताइये।

उत्तर :- विश्व में शांति एवं सुरक्षा की स्थापना।

9) विश्व व्यापार संगठन की स्थापना कब हुई ?

उत्तर :- 1995 में।

10) प्रथम विश्व युद्ध के बाद, युद्ध रोकने के लिए कौन सा अंर्तराष्ट्रीय संगठन बनाया गया ?

उत्तर :- राष्ट्र संघ (लीग ऑफ नेशन्स)

11) UNIIRC का विस्तृत रूप लिखे।

उत्तर :- यूनाईटेड नेशन्स हयूमन राइट्स कमीशन।

12) विश्व बैंक की औपचारिक स्थापना कब हुई ?

उत्तर :- 1945

13) संयुक्त राष्ट्र संघ की सुरक्षा परिषद में…..स्थायी और………. अस्थायी सदस्य हैं।

उत्तर :- 05 एवं 10

14) UNESCO का विस्तृत रूप लिखे।

उत्तर :- United Nations Educational Social & Cultural Organisation (संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, सामाजिक और सांस्कृतिक संगठन)

15) किस चार्टर के अंतर्गत संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना की गई।

उत्तर :- अटलांटिक चार्टर

16) अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष का कोई एक कार्य बताइए।

उत्तर :- वैश्विक स्तर की वित्त व्यवस्था की देख-रेख करना।

17) संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना……… के उत्तराधिकारी के रूप में की गई।

उत्तर :- राष्ट्र संघ

दो अंकों वाले प्रश्न :-

1) निषेधाधिकार किसे कहते है?

उत्तर :- सुरक्षा परिषद का कोई भी स्थायी सदस्य सुरक्षा परिषद द्वारा लिए जाने वाले निर्णय को रोक सकता है, यही वीटो का अधिकार है।

2) विश्व बैंक के कोई दो मुख्य कार्य वताइए।

उत्तर :- i) कृषि एवं ग्रामीण विकास के लिए काम करता है।
ii) सदस्य देशों को अनुदान के लिए काम करता है।

3) सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्यों के नाम लिखिये।

उत्तर :- ब्रिटेन, फ्रांस, अमेरिका, रूस, चीन।

4) मानवाधिकारों की रक्षा में सक्रिय दो स्वयं सेवी संगठन कौन से है?

उत्तर :- i) ऐमेनेस्टी इण्टरनेशनल।
ii) ह्यूमन राइट्स वॉच।

5) विश्व व्यापार संगठन के कोई दो कार्य बताइए।

उत्तर :- i) वैश्विक व्यापार के नियमों को तय करना। ii) सदस्य देशों के बीच मुक्त व्यापार की राह आसान बनाना।

6) सुम्मेलित किजिए :

i) 24 अक्टूबर 1945
ii) 10 दिसम्बर 1948
iii) फरवरी 1945
iv) अगस्त 1941

ए) अटलांटिक चार्टर
बी) माल्टा सम्मेलन
सी) संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना
डी) मानवाधिकारों की घोषणा

उत्तर :- i) सी
ii) डी
iii) बी)
iv) ए

7) सुम्मेलित किजिए –

1. रेडक्रॉस सोसाइटी
2 एमनेस्टी इंटरनेशनल
3 विश्व व्यापार संगठन
4 अन्तराष्ट्रीय मुद्राकोष

ए) विश्व व्यापार नियम
बी) युद्ध का आपदा पीड़ित सहायता
सी) आर्थिक उन्नति व ऋण देना
डी) मानवाधिकार रक्षा

उत्तर :- i) बी
ii) डी
iii) ए
iv) सी

8) ऐसे किन्हीं दो अन्तराष्ट्रीय मुद्दों को पहचानियें जिन्हें सुलझाना किसी एक देश के लिए संभव नहीं है।

उत्तर :- वैश्विक तापवृद्धि व आतंकवाद।

9) पारस्परिक निर्भरता किसे कहते है ?

उत्तर :- देशों के बीच विभिन्न मुद्दों पर आपसी निर्भरता ही ‘पारस्परिक निर्भरता कहलाती है।

10) विश्व में अन्तर्राष्ट्रीय संगठन होने के किन्हीं दो लाभों का उल्लेख करें।

उत्तर :- क) अंतराष्ट्रीय संगठन युद्ध और शांति के मसलों में मदद करते है ।
ख) अर्तराष्ट्रीय संगठन ‘ग्लोबल वार्मिंग’ जैसे महत्वपूर्ण प्रश्नों का समाधान मिलकर ढूंढने का प्रयास करते हैं।

चार अंक वाले प्रश्न :-
1. बदलती परिस्थितियों में प्रभावी एंब सुचारू ढंग से कार्य करने के लिए संयुक्त राष्ट्र संघ की प्रक्रिया व ढाँचे में सुधार के कौन-कौन से प्रस्ताव सुझाये गये है? (IMP)

उत्तर :- i) सुरक्षा परिषद् में स्थायी सदस्यों की संख्या बढ़ाना।
ii) वीटो पावर (निषेधाधिकार) की समाप्ति
iii) विकसित देशों के प्रभाव को समाप्त करना।
iv) कार्यप्रणाली को ज्यादा लोकतांत्रिक बनाना।

2. संयुक्त राष्ट्र संघ अमेरिकी वर्चस्व का सामना करने में असफल सिद्ध हुआ है। इस कथन से आप कहाँ तक सहमत है?

उत्तर :- अमेरीकी वर्चस्व का सामना करने में संयुक्त राष्ट्र के असफल होने के कारण :-

i) अमेरिका सबसे बड़ा वित्तीय योगदान देने वाला देश।
ii) UNO का मुख्यालय अमेरिका के भू क्षेत्र में स्थित है ।
iii) UNO में अधिकत्तर कर्मचारी अमेरिका के है।
iv) कोई प्रस्ताव अपने या साथी राष्ट्रों के हितों के अनुकूल न होने पर अपने वीटो से रोक सकता है।

उपरोक्त तथ्यों के बावजूद अमेरीका से वार्ता करने एवं उसपर दबाव बनाने के लिए UNO एक मंच के रूप में अवश्य उपलब्ध है।

3. सुरक्षा परिषद के कार्य बताइये के उत्तराधिकारी के रूप है ?

उत्तर :- सुरक्षा परिषद के मुख्य कार्य निम्नलिखित है :-

i) विश्व में शांति स्थापित करना।
ii) किसी भी देश द्वारा भेजी गयी शिकायत पर विचार करना।
iii) अपने निर्णयों को लागू करवाने की कार्यवाही करना ।
iv) झगड़ों का निपटारा करना।

4. भारत के नागरिक के रूप में सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता के पक्ष का समर्थन आप कैसे करेगें? अपने प्रस्ताव का औचित्य सिद्ध करें। (IMP)

उत्तर :- स्मरणीय विन्दु देखें।

5. ऐमेनेस्टी इण्टरनेशनल क्या है? इसके कोई दो कार्य बताएँ।

उत्तर :- ऐमेनेस्टी इण्टरनेशनल मानवाधिकारों की रक्षा करने वाला एक अन्तर्राष्ट्रीय संगठन है। यह संगठन मानवाधिकारों की रक्षा से जुड़ी रिपोर्ट तैयार और प्रकाशित करता है। उसकी ये रिपोर्ट मावाधिकारों से संबंधित अनुसंधान और तरफदारी में बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

6. संयुक्त राष्ट्र के मुख्य सिद्धांतों का वर्णन करें।

उत्तर :- स्मरणीय बिन्दु देखें।

पाँच अंक वाले प्रश्न :-
2 निम्नलिखित गद्यांश को पढ़े और पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दें :-

“पहले विश्वयुद्ध ने दुनिया को इस बात के लिए जगाया कि झगड़ों के निपटारे के लिए एक अन्तर्राष्ट्रीय संगठन बनाने का प्रयास किया जाना चाहिए। इसके परिणाम स्वरूप ‘लीग ऑफ नेशंस’ का जन्म हुआ। शुरूआती सफलताओं के बावजूद यह संगठन दूसरा विश्वयुद्ध न रोक सका। पहले की
तुलना में इस महायुद्ध में कहीं ज्यादा लोग मारे गए और घायल हुए।”

i) द्वितीय विश्व युद्ध कव समाप्त हुआ ?
ii) संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना कब और क्यों की गई ?
iii) इस प्रकार के संगठनों का निर्माण क्यों किया जाता है ? 2

उत्तर :- i) सन 1945 में।
ii) 30 अक्टूबर 1945, विश्व में शांति एवं सुरक्षा बनाए रखने के लिए।
iii) ताकि भविष्य में किसी भी भयानक युद्ध को रोककर विश्व में शांति और सुरक्षा को बनाये रखा जा सके।

छः अंकों वाले प्रश्न :-

1. अन्तर्राष्ट्रीय संगठनों की आवश्यकता स्पष्ट करे।

उत्तर :- स्मरणीय बिन्दु देखें।

2. संयुक्त राष्ट्र संघ को और अधिक प्रासंगिक बनाने के लिए कौन-कौन से कदम उठाने का निर्णय लिया गया है?

उत्तर :- स्मरणीय बिन्दु देखें।

3. संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत के योगदान पर चर्चा कीजिये।

उत्तर :- स्मरणीय बिन्दु देखें।

4. बदलते परिवेश में सुरक्षा परिषद में सुधारों की आवश्यकता क्यों महसूस हो रही है? (IMP)

उत्तर :- स्मरणीय बिन्दु देखें।

5. संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रमुख उद्देश्यों का वर्णन कीजिए। इन उद्देश्यों को कैसे पूरा किया जा सकता है ?

उत्तर :- निम्नलिखित कारणों से सुरक्षा परिषद में सुधारों की आवश्यकता महसूस हो रही है:

i) सुरक्षा परिषद अब राजनैतिक वास्तविकताओं की नुमाइदंगी नहीं करती।
ii) इसके फैसलों पर पश्चिमी मूल्यों व हितों का प्रभाव दिखता है।
iii) सुरक्षा परिषद् में बराबर का प्रतिनिधित्व नहीं है।
iv) इसके फैसलों पर चंद देशों का दवदवा है, विशेषकर उन देशों का जो संयुक्त राष्ट्र संघ के बजट में ज्यादा योगदान देते है।

6. वैश्विक राजनीति में अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाएं एवं संगठन किस हद तक लोकतांत्रिक व जवाबदेह है ?

उत्तर :- अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओं का लोकतांत्रिक एवं उनकी जवाबदेयता के पक्ष में तर्कः-

i) महासभा में विश्व के सभी राष्ट्रों की समान सदस्यता ।
ii) आर्थिक विकास के लिए कई ईकाईयाँ स्थापित।
iii) राष्ट्रों में लोकतंत्र की रक्षा के लिए संयुक्त राष्ट्र निरन्तर तत्पर।
iv) संगठन की ईकाईयाँ मानवाधिकारों की रक्षा के प्रति कार्यरत।
v) मानव विकास (शिक्षा, चिकित्सा) आदि पर वल।
vi) पर्यावरण की रक्षा पर बल।

उपरोक्त तथ्यों के बावजूद संयुक्त राष्ट्र में कुछ राष्ट्रों का निरंतर दवदवा बना रहता है। चाहे वो सुरक्षा परिषद् के आकार को न बढ़ाने का निर्णय हो अथवा सुरक्षा परिषद् में वीटो का प्रयोग हो, ये कुछ तथ्य है जो संयुक्त राष्ट्र संघ जैसी संस्थाओं के लोकतांत्रिक होने पर प्रश्नचिह्न लगाते है।

Class 12 All Subjects Notes In Hindi

History Click Here
Political Science Click Here
Geography Click Here
Economics Click Here